search engine optimization,SEO,search engine marketing,digital marketing

What is Search Engine Optimization “SEO” Definition

Do you want to learn Search engine optimization (SEO)?

Are you eager to pursue a career as an SEO expert?

You have come to the page of our right blog.

This article will help you to ensure that SEO is brought into your career and that you have learned SEO properly.

“No website can stand without a strong backbone. And that backbone is SEO. “- Neil Patel

क्या आप Search engine optimization (SEO) सीखना चाहते हैं?

क्या आप एक SEO विशेषज्ञ के रूप में करियर बनाने के लिए उत्सुक हैं?

आप हमारी सही ब्लॉग के पृष्ठ पर आ गए हैं।

यह लेख आपको यह सुनिश्चित करने में मदद करेगा की एसईओ अपने करियर में लाया जाये और आप सही तरीके से एसईओ सीखे हैं।

कोई भी वेबसाइट मजबूत रीढ़ के बिना नहीं खड़ी हो सकती है। और वह रीढ़ SEO है। ” – नील पटेल

"search engine optimization, "seo", "search engine land" ,"seo", "searchengineland.com", search engine optimization definition, search engine optimization ,tools search engine optimization google search engine optimization.

Friends, SEO on the Internet remains as a big first, what is SEO, what is done with SEO, what does SEO work, what are the things that SEO helps you to search on Google, you will have to learn about SEO in English. A lot of information would have been received, but you would not have got information about SEO in Hindi, so today I want to give you the information in both English and Hindi so that in your mind SEO is what makes it work, what it comes fully in your mind and you have got very little information in Hindi, then today I will tell in this post what they are and how Search engine optimization (SEO) work. SEO has a full form (search engine optimization) which ranks the website SEO is very important to improve and increase website traffic. SEO has to go to the work of technical SEO techniques and it is of two types. So before knowing what SEO is, we know that on-page and of-page Search engine optimization (SEO) are here but I am going to explain in detail about what Search engine optimization (SEO) is and what kind of website traffic it helps as you see that the search engine world is coming into it, what is a search engine is the simplest example of a search engine is Google and most people search for anything from Google itself, followed by Bing, Yahoo, Ask, etc.

What is Search engine optimization in Hindi ?

दोस्तों internet पर Search engine optimization “SEO” एक बड़ी पहली के तौर पर बना हुआ है कि “SEO” क्या है “SEO” से क्या होता है “SEO” से क्या काम करते हैं “SEO” किन किन चीजों में काम आता है आपने Search करा होगा गूगल पर तो आपको इंग्लिश में “SEO” के बारे मे बहुत information काफी मिली होगी लेकिन हिंदी मे आपको “SEO”के बारे मे information नहीं मिली होंगी इसलिए आज मैं आपको इंग्लिश और हिंदी में दोनों में जानकारी देना चाहता हूं जिससे कि आपके mind में “SEO”
 क्या है जो किस चीज में काम आता है वह आपके mind में पूरी तरह से आ जाए और आपको हिंदी में information बहुत ही कम मिली होगी तो आज मैं इस post में बताऊंगा कि वो क्या है और “SEO”काम कैसे करते हैं Search engine optimization “SEO” का फुल फॉर्म (search engine optimization)होता है जो website rank improve कराने और website पर traffic increase करने के लिए बहुत जरूरी है “SEO” कहीं कहीं पर technical SEO technique के काम पर भी जाना जाता है और यह दो तरह का होता है तो Search engine optimization “SEO” क्या है जानने से पहले जानते हैं on page और of page SEO यहां पर मैं इसी के बारे में विस्तार से बताने वाला हूं कि SEO क्या है और यह किस तरह website traffic लाने मे help करता है

DIGITAL MARKETING, SEARCH ENGINE OPTIMIZATION, SEO, email marketing, SEM marketing

So as you see that the search engine world is coming into it, what is a search engine is the simplest example of a search engine is Google and most people search for anything from Google itself, followed by Bing, Yahoo, Ask etc.

तो जैसा कि आप देख रहे हैं कि search engine world इसमें आ रहा है तो search engine क्या होता है search engine का सबसे simple सा example है गूगल और mostly लोग गूगल से ही कुछ भी सर्च करते हैं इसके बाद आता है bing, yahoo, Ask etc.

The most popular of all search engines is Google and the reason behind this is that Google properly organizes all the content on the Internet and shows it in search results and indexes the assets of any new content that is included and as an Internet user. Is not it searches in Google, Google shows search results based on relevant content and keywords, so you understand search engine ie Google Therefore SEO after we first understand the search engine to know, now we understand optimization.

सभी search engine में सबसे ज्यादा popular गूगल है और इसके पीछे reason है कि गूगल इंटरनेट पर मौजूद सभी content को अच्छे तरीके से organize करके सर्च रिजल्ट में दिखाता है और जो भी नए content होते हैं उसको property index करता है और जैसे कि कोई इंटरनेट users उसको गूगल में सर्च करता है गूगल relavat content और keyword से ही base पर सर्च result show करता है तो आपको search engine यानी कि गूगल का काम समझ में आ गया इसलिए Search engine optimization क्या है जानने के लिए हमें पहले सर्च इंजन को समझने के बाद अब हम optimization को समझते है 

Now let’s get to the optimization

The simplest of optimization means that we organize our blogs,
blog content, keywords, JavaScript and CCS, load time, backlinks, social
sharing in such a way that it shows first in the Google search result, in the
same way, say to optimize. Huh. Now you must have understood that the
optimization process or technique which is used to bring a blog on a search
engine, is SEO, it means search engine optimization. After knowing about this
optimization world, little must have understood what SEO is

अब आते हैं optimization पर optimization क्या है

Optimization का simple सा यह meaning है कि हम अपने blog, blog content,
keyword javascript
और CCS, load time, backlink, social
sharing
तो ऐसे organize करते है की वह गूगल सर्च result में सबसे पहले ही show करें इसी को optimization करना कहते हैं तो अब आपको समझ में आ गया होगा कि सर्च इंजन पर blog लाने के लिए जो optimization process या technique used करते हैं उसे SEO यानी Search engine optimization कहते हैं इस Optimization keyword के बारे में जानने के बाद थोड़ा बहुत समझ आ ही गया होगा कि Search engine optimization (SEO)क्या है

How search engine optimization works and what it uses

How search engine optimization works today will also ask questions in your mind. Friends, whenever we do some search in Google or any other search engine, millions of results come and we click only on 1-2 of those results and hardly anyone will click on the search result of the 2nd page.

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैसे काम करता है आज आपके मन में भी सवाल करता होगा। दोस्तों जब भी हम गूगल या किसी दूसरे सर्च इंजन में कुछ सर्च करते है तो लाखो रिजल्ट आते है और हम उन्ही रिजल्ट में से किसी १-२ पर ही क्लिक करते है और मुश्किल से कोई व्यक्ति 2nd पेज के सर्च रिजल्ट पर क्लिक करता होगा

This means that those who are on the first page of the blog or website search result have a high running and they follow the blog well optimization or SEO.

इसका मतलब ये है की जो भी ब्लॉग या वेबसाइट सर्च रिजल्ट के पहले पेज में होते है उनकी रनिंग हाई होती है और वो ब्लॉग वेल Optimization या Search engine optimization (SEO) को फॉलो करते है

So have you ever wondered how Google crawls the content of a blog from the database and how it shows in the results? What is the thing on which Google indexes the content of the blog/website in the search result on the base? Which blog should come 2nd? Which blog should come on the 3rd? So there are many factors for all these things.

तो कभी अपने सोचा है की गूगल कैसे किसी ब्लॉग के कंटेंट को डेटाबेस से क्रॉल करता है और कैसे रिजल्ट में शो करता है? वो क्या चीज़ होती है जिनते बेस पर गूगल सर्च रिजल्ट में ब्लॉग/वेबसाइट के कंटेंट को इंडेक्स करता है? किस ब्लॉग को 2nd पर आना चाहिए? किस ब्लॉग को 3rd पर आना चाहिए? तो इन सब चीज़ों के लिए बहुत सारे फैक्टर्स होते है

 

search engine optimization,SEO,search engine marketing,digital marketing
"search engine optimization, "seo", "search engine land" ,"seo", "searchengineland.com", search engine optimization definition, search engine optimization ,tools search engine optimization google search engine optimization.

How does Google determine search engine rankings?

Every search engine, whether it is Google or Yahoo, has an algorithm of all search engines. Whose recording indexes different web content and shows them in search results according to some important factors.
And what are the factors on whose basis Google decides who to top the search engine results and who later, let me tell you that no one knows these factories and Google did not even leak this information is

But some SEO analysts or SEO experts have done the research themselves and they state that it is those factors and according to those factors we can optimize our blog..

गूगल सर्च इंजन की रैंकिंग कैसे तय करता है ?

हर एक सर्च इंजन चाहे वो गूगल हो या याहू हो सभी सर्च इंजन की एक अल्गोरिथम होती है। जिसके अकॉर्डिंग वो अलग अलग वेब कंटेंट को इंडेक्सट करता है और कुछ इम्पोर्टेन्ट फैक्टर्स के हिसाब से ही उनको सर्च रिजल्ट में शो करता है।
और वो फैक्टर्स क्या है जिनके बेस पर गूगल यह तय करता है की सर्च इंजन रिजल्ट में किसको टॉप पर रखे और किसको बाद में तो मै आपको बता दू की यह फैक्टर्स किसी को नहीं पता होता है और गूगल ने भी इस इनफार्मेशन को लीक नहीं किया है 

 

लेकिन कुछ seo अनालिस्ट्स या Search engine optimization (SEO) एक्सपर्ट्स ने खुद रिसर्च किया हुआ है और वो यह बताते है की वो फैक्टर्स क्या है और उन्ही फैक्टर्स के अकॉर्डिंग हम अपने ब्लॉग को ऑप्टिमाइजेशन कर सकते है

search engine optimization,SEO,search engine marketing,digital marketing
"search engine optimization, "seo", "search engine land" ,"seo", "searchengineland.com", search engine optimization definition, search engine optimization ,tools search engine optimization google search engine optimization.

Search engine ranking factors:

Friends, now we go about what is a keyword and how it works but on the basis of how articles are ranked in search engines you will know about them as I have mentioned that some s.e.o. Experts have pointed out that Google shows the content of any blog on blogs at the top in search results, so let’s know these factors.

दोस्तों अभी हमने जाना कि एसईओ क्या है और कैसे काम करता है लेकिन सर्च इंजन में आर्टिकल किस बेसिस पर रैंक होते हैं आप उनके बारे में जानेंगे जैसे कि मैंने बताया है कि कुछ s.e.o. एक्सपर्ट ने रिसर्च किया है कि गूगल किन फैक्टर पर किसी ब्लॉग के कंटेंट को सर्च रिजल्ट में टॉप पर शो करता है तो चलिए इन फेक्टर को जान लेते हैं

#1: Domain Level 

Domain level and factor that depends on your blog’s domain name, block the linked quality site and its page rank. The factor of this factor is up to 8 points in 10, ie your domain name is the most important factor for backlinks SEO.

डोमेन लेवल व फैक्टर है जो आपके ब्लॉग के डोमेन नेम, ब्लॉक से लिंक लिंक्ड क्वालिटी साइट एंड उसके पेज रैंक पर डिपेंड करता इस फैक्टर का इम्पोर्टेन्ट 10 में 8 पॉइंट तक होता है यानी कि आपका डोमेन नेम, बैकलिंक्स seo के लिए सबसे इम्पोर्टेन्ट फेक्टर है 

#2: KEYWORD & CONTENT

इस फैक्टर्स में आपको ऑन पेज SEO अफेक्टेड होता है ऑन पेज SEO में आपको कीवर्ड कंटेंट-टाइप, कंटेंट क्वालिटी कंटेट लेंथ पर डिपेंड करता है अगर आपको कंटेंस में अच्छे कीवर्ड यूज़ होते हैं तो वह आपके लिए बेनेफिशियल होगा आपको कीवर्ड का ख्याल रखना चाहिए इसके साथ साथ आपको डिटेल्ड पोस्ट करनी चाहिए इस फैक्टर्स का SEO में इम्पोर्टेन्ट10 में 7 पॉइंट तक होता है।  

In these factors, you get the on-page SEO optimized, on-page SEO, depending on the content content-type, content quality, content length, if you use good keywords in the content then it will you will have to take care of the keywords, along with this you should post the details, this factor is up to 6 points in the import 10.

#3: content writing techniques

While writing the content, H1, H2 tags should be used in writing your title. If you are a beginner, then let me tell you H1, H2 tags are used in HTL, then you can write H6 to the subheadings as well. I can write for paragraphs in content. To keep the font-size too high, any reader can easily read it without zooming. Factors have a score of 6 out of 10.

कंटेंट को लिखते समय h1,h2 टैग्स का यूज अपने टाइटल को लिखने में करना चाहिए अगर आप बिगिनर हैं तो आपको बता दू h1,h2 टैग एचटीएमएल मैं यूज होते हैं फिर subheadings को आप h6 में लिख सकते हैं साथ ही अपने कंटेन में पैराग्राफ के font-size को भी इतना बड़ा रखने की कोई भी रीडर उसको बिना ज़ूम किये बिना आसानी से पढ़ सके इस फैक्टर्स का स्कोर 10 में से 6 पॉइंट होता है

#4: Traffic

The number of visitors to your blog on the day, how many organic search visitors are there and how many are coming through social media, it all depends on what brings up the search results on your blog, along with page loading of your blog. If time is minimum, then the importance of this factor is also 6 points.

आपके ब्लॉग पर पर डे कितने विजिटर आते हैं उसमें से कितने ऑर्गेनिक सर्च विजिटर हैं और कितने सोशल मीडिया के through आ रहे हैं यह सब भी depend करता है जो आपके ब्लॉग पर सर्च रिजल्ट में ऊपर लाता है इसके साथ-साथ आपके ब्लॉग के पेज लोडिंग टाइम मिनिमम होना चाहिए तो इस फैक्टर का important भी 6 पॉइंट होता है

#5: Domain brand value

Domain brand value means that the job is of a blog or website/news/media press, their import is more and in search results or at the top, then if you are blogging on such topics then media is also covered in the news side. So be careful as it may be a bit competitive for you, yet according to Google’s search ranking pattern, its points are 5 points.

डोमेन ब्रांड वैल्यू यानी जॉब ही ब्लॉग या वेबसाइट/न्यूज़/मीडिया प्रेस की होती है उनका इम्पोर्टेंस ज्यादा रहता है और सर्च रिजल्ट में या टॉप पर ही रहते हैं तो अगर आप ऐसे टॉपिक पर ब्लॉगिंग करते हैं तो मीडिया न्यूज़ साइड में भी कवर होती है तो आप सावधान हो जाइए क्योंकि यह आपके लिए थोड़ा Competition हो सकता है फिर भी गूगल के सर्च रैंकिंग पैटर्न के हिसाब से इसका पॉइंट 5 होता है

#6: Keyword Used

If a visitor searches by entering keywords that match the title of your content with the same, it may cause ranking in the search results of your blog, but the importance scan of this factor is only 4 out of 10 points.

अगर कोई विजिटर ऐसा कीवर्ड डालकर सर्च करता है जो आपके कंटेंट के टाइटल से सेम टू सेम मैच करता है तो इससे आपके ब्लॉग की सर्च रिजल्ट में रैंकिंग बैटर हो सकती है लेकिन इस फैक्टर का इम्पोर्टेंस स्कोर 4 आउट ऑफ़ 10 पॉइंट्स ही है

#7 HTPPs Sites :

Whatever HTTPS sites are, sites that are considered safe are not exposed to any virus attack, fraud, so Google values such sites a little bit and puts them ahead in the search results. The importance is considered 10 in 6

जो भी एचटीटीपीएस वाली साइट होती है वह साइट सिक्योर मानी जाती है जिनको ओपन करने पर किसी भी वायरस अटैक फ्रॉड का कोई भी खतरा नहीं होता है इसलिए गूगल ऐसी साइट को थोड़ा ज्यादा इंपोर्टेंस देता है और उनको सर्च रिजल्ट में आगे रखता है इस फैक्टर का इंपॉर्टेंस 6 मे 10 माना जाता है

#8: social media

How many social profiles do your blog have, ie have you created blog pages on social media sites like FB, google plus, twitter, Instagram, youtube, etc.? If not, make it quickly because it is also one of the search engine ranking factors and Google factor importance data. Its point is 3.5 out of 10. But even then there is no hard work, you should pay attention to it

Friends here, I have told what is Search engine optimization (SEO) (What is SEO Hindi me) and how to do SEO (Search Engine Optimization) if you want. If you want to increase traffic on your website or blog then Alexa rank will improve and your Post search For the first position in the result, it is very important to understand SEO (Search Engine Optimization) and SEO factors for this, with this you must keep knowledge about such technical i.e. Technical SEO, Page SEO, and Page SEO.

आपके blog के कितने social profile हैं यानी क्या आपने fb, Google plus, Twitter, instragram, YouTube आदि social media sites पर blog के pages बनाए हैं अगर नहीं बनाए हैं तो जल्दी से बना लीजिए क्योंकि यह भी search engine ranking factors में से एक है और गूगल इस factors importance डाटा है उसका point है 3.5 out of 10. लेकिन फिर भी या कोई कठिन काम नहीं है आपको इस पर ध्यान देना चाहिए

दोस्तों यहां पर मैंने बताया है SEO क्या है (what is SEO Hindi me) और SEO (Search engine optimization) कैसे करें अगर आप चाहते हैं यदि आप चाहते हैं कि आपके website/blog पर traffic increase हो alexa rank improve हो और आपका post search results में 1st position पर आए तो इसके लिए आपको SEO (Search engine optimization) और Search engine optimization (SEO) factors को समझना बहुत जरूरी है इसके साथ आप ऐसे technical यानी technical SEO, on page SEO और of page SEO के बारे में जानकारी जरूर रखे

"search engine optimization, "seo", "search engine land" ,"seo", "searchengineland.com", search engine optimization definition, search engine optimization ,tools search engine optimization google search engine optimization.

I hope you guys have understood on our post what SEO is? Still having any problem, you can ask by commenting below.
उम्मीद है कि आप लोगों को हमारी पोस्ट पर समझ आ गया होगा की SEO क्या है ? फिर भी कोई प्रॉब्लम आ रही है तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं

1 thought on “What is Search Engine Optimization “SEO” Definition”

Leave a Comment